दर्शन दे दो प्यारे हो

दर्शन दे दो प्यारे हो

दर्शन दे दो प्यारे हो,
अवध के राज दुलारे हो।
प्राणों के प्रिय प्यारे हो,
मेरे नैनो के तारे हो॥
(मम नयनन के तारे हो॥

कैसे जीवन काटू मोहन,
तड़फत नैन हमारे हो।
निश दिन आशा लगी है प्यारे,
दर्शन हेतु तिहारे हो॥

दर्शन दे दो प्यारे हो,
अवध के राज दुलारे हो।
प्राणों के प्रिय प्यारे हो,
मेरे नैनो के तारे हो॥

देहु कृपा कर अब तो दर्शन,
प्यारे पीव हमारे हो।
अब तक जीवन बिता बहोत ही,
तुमबिन प्रीतम प्यारे हो॥

दर्शन दे दो प्यारे हो,
अवध के राज दुलारे हो।
प्राणों के प्रिय प्यारे हो,
मेरे नैनो के तारे हो॥

कहां तक कहऊँ सुगम सिन्धु में,
जीवन प्राण हमारे हो।
दे दो दर्शन परम दयालु,
भवन गोपाल पधारे हो।

करहुं कृपा अपने दासो पर,
दरस दिखा दो प्यारे हो॥
दर्शन दे दो प्यारे हो

दर्शन दे दो प्यारे हो,
अवध के राज दुलारे हो।
प्राणों के प्रिय प्यारे हो,
मेरे नैनो के तारे हो॥




You Can Also Visit