भजन कीर्तन की सूची

भारत में भजन कीर्तन किसी भी भाषा में धार्मिक विषयों या आध्यात्मिक विचारों के साथ किसी भी भक्ति गीत को संदर्भित करता है। भजन करने वाले भक्त अपने ईश्वर से अपने विचारों को गीत में बोलकर या गाकर अपने विचार व्यक्त करते हैं। भजन शब्द का अर्थ है 'श्रद्धा', जो संस्कृत शब्द भज से निकला शब्द है। हिंदू धर्म में, अधिकांश भजन कीर्तन जागरण या पूजा में गाए जाते हैं। हिंदू देवी-देवताओं के लिए भजन गाए जाते हैं जैसे शिव, कृष्ण, दुर्गा माता, लक्ष्मी, रानी आदि।


156 Results
आओ हनुमान जी मेरे घर

आओ हनुमान जी मेरे घर

आओ हनुमान जी मेरे घर, पूरी कर दो प्रभु आस मेरी। कर दो मुझपे दया की नजर पूरी कर दो प्रभु आस मेरी॥
जय हो जय हो तुम्हारी जी बजरंगबली

जय हो जय हो तुम्हारी जी बजरंगबली

जय हो जय हो तुम्हारी जी बजरंगबली ले के शिव रूप आना गज़ब हो गया। त्रेता युग में थे, तुम आये द्वापर में भी तेरा कलयुग में आना गज़ब हो गया॥
आ लौट के आजा हनुमान

आ लौट के आजा हनुमान

आ लौट के आजा हनुमान, तुम्हे श्री राम बुलाते हैं। जानकी के बसे तुममे प्राण, तुम्हे श्री राम बुलाते हैं॥
भरत भाई, कपि से उरिन हम नाहीं

भरत भाई, कपि से उरिन हम नाहीं

भरत भाई, कपि से उरिन हम नाहीं कपि से उरिन हम नाहीं
ओ सुन अंजनी के लाला

ओ सुन अंजनी के लाला

ओ सुन अंजनी के लाला, मुझे तेरा एक सहारा। मुझे अपनी शरण में ले लो,
राम ना मिलेगे हनुमान के बिना

राम ना मिलेगे हनुमान के बिना

पार ना लगोगे श्री राम के बिना, राम ना मिलेगे हनुमान के बिना।
आना पवन कुमार

आना पवन कुमार

हमारे हरी कीर्तन में लाना सब परिवार हमारे हरी कीर्तन में
बजरंग बाण–जय हनुमंत संत हितकारी

बजरंग बाण–जय हनुमंत संत हितकारी

निश्चय प्रेम प्रतीति ते, बिनय करैं सनमान। तेहि के कारज सकल शुभ, सिद्ध करैं हनुमान॥
दुनिया मे देव हजारो हैं

दुनिया मे देव हजारो हैं

दुनिया मे देव हजारो हैं, बजरंग बली का क्या कहना
कलयुग मे सिद्ध हो देव तुम्ही हनुमान

कलयुग मे सिद्ध हो देव तुम्ही हनुमान

कलयुग मे सिद्ध हो देव तुम्ही, हनुमान तुम्हारा क्या कहना। तेरी शक्ति का क्या कहना,
दुनिया के मालिक को भगवान कहते हैं

दुनिया के मालिक को भगवान कहते हैं

दुनिया के मालिक को भगवान कहते हैं संकट के साथी को हनुमान कहते हैं
जिनके मन में बसे श्री राम जी

जिनके मन में बसे श्री राम जी

जिनके मन में बसे श्री राम जी उनकी रक्षा करें हनुमान जी।
हे दुःख भन्जन मारुती नंदन

हे दुःख भन्जन मारुती नंदन

हे दुःख भन्जन, मारुती नंदन, सुन लो मेरी पुकार पवनसुत विनती बारम्बार
श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में

श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में

श्री राम जानकी बैठे हैं मेरे सीने में, देख लो मेरे दिल के नगिनें में।
दुनिया चले ना श्री राम के बिना

दुनिया चले ना श्री राम के बिना

दुनिया चले ना श्री राम के बिना। राम जी चले ना हनुमान के बिना॥ जब से रामायण पढ़ ली है, एक बात मैंने समझ ली है।
आज मंगलवार है महावीर का वार है

आज मंगलवार है महावीर का वार है

आज मंगलवार है, महावीर का वार है, यह सच्चा दरबार है। सच्चे मन से जो कोई ध्यावे,
मंगल मुरति राम दुलारे

मंगल मुरति राम दुलारे

मंगल मुरति राम दुलारे, आन पड़ा अब तेरे द्वारे। हे बजरंगबली हनुमान, हे महावीर करो कल्याण॥
बजरंगबली मेरी नाव चली

बजरंगबली मेरी नाव चली

बजरंगबली मेरी नाव चली, करुना कर पार लगा देना। हे महावीरा हर लो पीरा, सत्माराग मोहे दिखा देना॥
एक फकीरा आया शिर्डी गाँव मे

एक फकीरा आया शिर्डी गाँव मे

एक फकीरा आया शिर्डी गाँव मे, आ बैठा एक नीम की ठंडी छाँव मे।
जिसने लिखी अपने हाथो से

जिसने लिखी अपने हाथो से

जिसने लिखी अपने हाथो से दुनिया की तकदीर शिर्डी मे वो आया देखो बनके एक फकीर जिसने लिखी अपने हाथो से दुनिया की तकदीर
वीर हनुमाना अति बलवाना

वीर हनुमाना अति बलवाना

वीर हनुमाना अति बलवाना, राम नाम रसियो रे, प्रभु मन बसियो रे.
मेरी सुनलो मारुति नंदन

मेरी सुनलो मारुति नंदन

मेरी सुनलो मारुति नंदन, काटो मेरे दुख के बंधन हे महावीर बजरंगी, तुम्हे कहते है दुख भंजन मेरी सुनलो मारुति नंदन, काटो मेरे दुख के बंधन हे महावीर बजरंगी, तुम
दुनिया रचने वाले को भगवान कहते है

दुनिया रचने वाले को भगवान कहते है

दुनिया रचने वाले को भगवान कहते है, और संकट हारने वाले को हनुमान कहते हैं संकट हारने वाले को हनुमान कहते हैं
बिगड़ी मेरी बना दे

बिगड़ी मेरी बना दे

सदा पापी से पापी को भी तुम माँ भव-सिन्धु तारी हो फंसी मझधार में नैया को भी

Coming Festival/Event

Today Date (Aaj Ki Tithi)

Latest Articles


You Can Also Visit

X