साई बाबा की आरती

Sai Baba Ki Aarti

संक्षिप्त जानकारी

  • समय: सांय बाबा की आरती सुबह 5:15 बजे (सुबह) और शाम 7:15 बजे (संध्या)।
  • शिरडी के साईं बाबा न तो हिंदू हैं और न ही मुसलमान, वे अपने भक्तों के दुखों को दूर करने में सिद्ध हैं। अपने जीवनकाल में उन्होंने कई चमत्कार दिखाए। साईं जी के 11 वचनों के अनुसार, वे अपने भक्तों की सेवा के लिए तुरंत उपलब्ध हैं। भक्त उन्हें बाबा की आरती करके याद करते हैं।

आरती श्री साई गुरुवर की, परमानंद सदा गुरुवर की |
जाकी कृपा विपुल सुखकारी, दु:ख शोक संकट भयहारी ||

शिरडी में अवतार रचाया, चमत्कार से तत्व दिखाया |
कितने भक्त शरण में आये, वे सुख शंति निरंतर पाये ||

भाव धरे जो मन में जैसा, साई का अनुभव वैसा |
गुरु की उदी लगावे तन को, समाधान लाभत उस तन को ||

साई नाम सदा जो गावें, सो फल जग में शाश्वत पावें |
गुरुवासर करि पूजा सेवा, उस पर कृपा करत गुरु देवा ||

राम कृष्ण हनुमान रुप में, दे दर्शन जानत जो मन में |
विविध धर्म के सेवक आतें, दर्शन कर इच्छित फल पातें ||

जै बोलो साई बाबा की, जै बोलो अवधूत गुरु की |
साई की आरती जो कोई गावे, घर में बसि सुख मंगल पावे ||

आरती श्री साई....
अनंत कोटि ब्रह्माण्ड़ नायक, राजाधिराज योगीराज
जय जय जय साई बाबा की
आरती श्री साई गुरुवर की.......

You can Read in English...

आरती

मंत्र

चालीसा

आप को इन्हें भी पढ़ना चाहिए हैं :

Other Sai Baba Devotional Materials of Aarti

Sai Baba Ki Aarti बारे में

आपको इन्हे देखना चाहिए

आने वाला त्योहार / कार्यक्रम

आज की तिथि (Aaj Ki Tithi)

ताज़ा लेख

इन्हे भी आप देख सकते हैं

X