चैत्र नवरात्रि

Chaitra Navratri

संक्षिप्त जानकारी

  • चैत्र नवरात्रि 2021 तीथि (चैत्र नवरात्रि 2021 तीथि)
  • नवरात्रि दिवस 1: माँ शैलपुत्री पूजा 13 अप्रैल मंगलवार 2021
  • नवरात्रि दिवस 2: माँ ब्रह्मचारिणी पूजा 14 अप्रैल बुधवार 2021
  • नवरात्रि दिवस 3: मां चंद्रघंटा पूजा 15 अप्रैल गुरुवार 2021
  • नवरात्रि दिवस 4: माँ कुष्मांडा पूजा 16 अप्रैल गुरुवार 2021
  • नवरात्रि दिवस 5: माँ स्कंदमाता पूजा 17 अप्रैल 2021 शनिवार
  • नवरात्रि दिवस 6: माँ कात्यायनी पूजा 18 अप्रैल 2021 रविवार
  • नवरात्रि दिवस 7: माँ कालरात्रि पूजा 19 अप्रैल 2021 सोमवार
  • नवरात्रि दिवस 8: माँ महागौरी पूजा 20 अप्रैल 2021 मंगलवार
  • नवरात्रि दिवस 9: माँ सिद्धिदात्री पूजा 21 अप्रैल 2021 बुधवार
  • नवरात्रि दिवस 10: नवरात्रि पारण 22 अप्रैल 2021 गुरुवार
  • # नवरात्रि2021, #चैत्रनवरात्रि2021, #नवरात्रिपूजा2021 #नवरात्रिभोजन, #नवरात्रिविशेषभोजन

चैत्र नवरात्रि हिन्दूओं का प्रसिद्ध त्योहार है। इस त्योहार को नौ दिनों तक मनाया जाता है। यह त्योहार मा दुर्गा के नौ रूपों को समर्पित एक त्योहार है। प्रत्येक दिन माता के एक रूप की पूजा की जाती है। इसलिए इस त्योहार में नौ देवीं की पूजा की जाती है।

नवरात्रि के इस त्योहार में दो ऋतुओं का मिलन होता है। नवरात्रि एक साल दो बार मनाया जाता है। इस त्योहार को चैत्र नवरात्रि और अश्विन नवरात्रि कहा जाता है। चैत्र नवरात्रि  मार्च या अप्रैल के महीनें के दौरान आता है। चैत्र नवरात्रि को वसंत नवरात्रि के रूप में भी जाना जाता है।
रामनवमी, भगवान राम का जन्मदिन आमतौर पर नवरात्रि उत्सव के दौरान नौवें दिन होता है। इसलिए चैत्र नवरात्रि को राम नवरात्रि के रूप में भी जाना जाता है।

शारदीय नवरात्रि के दौरान आने वाले अधिकांश रीति-रिवाजों और रस्मों का पालन चैत्र नवरात्रि के दौरान किया जाता है। शारदीय नवरात्रि और चैत्र नवरात्रि के लिए घटस्थापना पूजा विधान समान है।

चैत्र नवरात्रि उत्तर भारत में अधिक लोकप्रिय है। महाराष्ट्र में चैत्र नवरात्रि की शुरुआत गुड़ी पड़वा से होती है और आंध्र प्रदेश में इसकी शुरुआत उगादी से होती है।

विवादे विषादे प्रमादे प्रवासे जले चानले पर्वते शत्रुमध्ये।
अरण्ये शरण्ये सदा मां प्रपाहि गतिस्त्वं गतिस्त्वं त्वमेका भवानि॥

अर्थ: विवाद, विषाद, प्रमद, या प्रवास में, जल, अग्नि, या पर्वत में, श्रुतों के बीच, और जंगल में, मेरी रक्षा करो, आप ही शरण्य हो। तुम ही रास्ता बनो, एकमात्र तुम ही रास्ता बनो, माँ भवानी।
 

नवरात्रि महोत्सव के लिए आरती

माता के भजन कीर्तन के लिए यहाँ क्लिक करें

नवरात्रि स्पेशल खाना कैसे बनाये? यहाँ क्लिक करें

You can Read in English...

आरती

मंत्र

चालीसा

आप को इन्हें भी पढ़ना चाहिए हैं :

Other Durga Mata Indian Festival of Hindu Festival

Chaitra Navratri बारे में


आगामी त्यौहार

महावीर जयंती हनुमान जयंती फाल्गुन कालाष्टमी व्रत परशुराम जंयती अक्षय तृतीया

आपको इन्हे देखना चाहिए

आने वाला त्योहार / कार्यक्रम

आज की तिथि (Aaj Ki Tithi)

ताज़ा लेख

इन्हे भी आप देख सकते हैं

X