आज की तिथि (आज दिन)

सोमवार, 17 फरवरी 2020

विक्रम संवत 2076 हिंदू तिथि: फाल्गुन कृष्ण पक्ष

(माघ शुक्ल 7 से फाल्गुन शुक्ल 6 तक। तारीख 10 से फाल्गुन मास प्रारम्भ।)

आज सूर्योदय समय 07:08 am
आज सूर्यास्त का समय : 06:37 pm
समय दिल्ली एनसीआर के अनुसार।

श्री रामदास नवमी


फरवरी राशिफल

  • मेष - ऐशो आराम की वस्तुयें प्राप्त होगी। आर्थिक स्थिति उतार-चढ़ाव की रहेगी। विद्यार्थियो को परिश्रम से सफलता मिलेगी। तारीख 16,17,26 और 28 को सतर्क रहें।
  • वृष - प्रतिभा का लाभ प्राप्त होगा। रुके कार्य हो जायेगें। उत्साह व मनोबल बढ़ेगा। आर्थिक हालात अच्छे व अस्थिर रहेंगे। तारीख 1,2,18,19,20,28, और 29 को सचेत रहें।δ
  • मिथुन - उत्तरार्ध में यात्रा होगी। विद्यार्थी बेहतर कर सकेंगे। कैरियर में बदलाव की सम्भावना है। भागीदारी में समस्या होगी। तारीख 3,4,5,21 और 22 को सतर्क रहें।
  • कर्क - घर का सुख कम मिलेगा। भागीदारी में परेशानी होगी। खर्च बढ़ेगा। प्रसास, परिश्रम से कार्यो में सफलता मिलेगी। तारीख 6,23,24 और 25 को सतर्क रहें।
  • सिंह - कार्यशक्ति आगे बढ़ने में मददगार साबित होगी। कार्यों में सफलता प्राप्त होगी और तरक्की होगी। आवेश से बचना होगा। तारीख 8,9,26 और 27 को सतर्क रहें।
  • कन्या - धन-लाभ होगा। जल्दबाजी से कार्य बिगड़ सकता है। गृह में सुख सुविधा का सामान बढ़ेगा और तरक्की होगी। तारीख 1,2,10,11,12,28 और 29 को सतर्क रहें।
  • तुला - यात्रा होगी और लाभ देगी। शुभ समाचार प्राप्त होंगे। भाई-बन्धु परेशान करेंगे और घर से बाहर रहना पड़ सकता है। तारीख 3,5,6,12 और 13 को सतर्क रहें।
  • वृश्चिक - विचाराधीन कार्य हो जाएँगे। सामान्यतः मास शुभ रहेगा। अर्थ-दशा बेहतर परंतु उतार-चढ़ाव की रहेगी। स्वास्थ्य पर ध्यान दें। तारीख 6,7,14 और 15 को सतर्क रहें।
  • धनु - यात्रा लाभ देगी। प्रतियोगिता में सफलता प्राप्त होगी। भागीदारी से बचें। क्रोध से कार्य बिगड़ सकते है। तारीख 8,9,16 और 17 को सतर्क रहें।
  • मकर - स्वयं कोशिश से सभी कार्य होंगे। लाभ और मान-यश प्राप्त होगा। कार्यशक्ति व उत्साह बढ़ेगा। मित्र लाभ देंगे। तारीख 10,11,18,19 और 20 को सचेत रहें।
  • कुम्भ - मान-यश और दबदबा बना रहेगा। कारोबार एवं नौकरी में कुछ परेशानी हो सकती है और व्यय बढ़ सकता है। तारीख 12,13, 21 और 22 को सचेत रहें।
  • मीन - कार्यो में सफलता मिलेगी। आनंद का अनुभव होगा। अटका धन मिल सकता है। स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें। तारीख 14,15,23,24 और 25 को सचेत रहें।

फरवरी विवाह मुहूर्त

तारीख 3,4,5,9,10,11,12,13,14,16,17,18,19,20,25,26, और 27

अंग्रेजी में पढ़ें

हिन्दू पंचांग का मुख्य अंग तिथि होती है। यह हिन्दू पंचांग का यह एक चन्द्रमास का एक दिन होता है। तिथि के आधार पर ही सभी वार, त्यौहार, जन्मदिवस, पुण्यतिथि, शुभ दिन, अशुभ दिन आदि का निर्धारण होता है। वैदिन ज्योतिष में परिभाषित एक महीने में कुल 30 दिन तिथियां होती है। जिनमें अमवास्या व पूर्णिमा मास में एक बार ही आती हैं। पहले पंद्रह तिथियां को शुक्ल पक्ष में , जबकि अगले पंद्रह तीथों को कृष्ण पक्ष में शामिल किया जाता है। सभी शुभ काम शुक्ल पक्ष में करने चाहिए। एक तिथि तब पूर्ण मानी जाती है जब चंद्रमा सूर्य से 12 डिग्री पर स्थित होता है। चन्द्रमा के 12 डिग्री झुकाव के साथ, एक तिथि का समापन होता है। एक तिथि में पांच भाग होते हैं जिन्हें नंदा, भद्रा, रिक्ता, जया और पूर्णा कहा जाता है।
शुक्ल पक्ष क्या है? ,
कृष्णपक्ष क्या है?

You Can Also Visit

आने वाला त्योहार / कार्यक्रम

आज की तिथि (Aaj Ki Tithi)

ताज़ा लेख

इन्हे भी आप देख सकते हैं

X