निधिवन

Nidhivan

Short information

  • Location: Raman Reti, Vrindavan and 2-3 km from Shri Bankey Bihari Mandir Vrindavan.
  • Timing: Sunrise to Sunset, (5.00 am to 6.00 pm).
  • Attraction: One of the most famous mysterious place of holy city Vrindavan.
  • How to reach: Nidhivan is reachable by taking Rickshaws or by hiring Autos from Shri Bankey Bihari Mandir Vrindavan.
  • Photography Charges: Not allowed in prayer hall.

वृन्दावन में निधिवन एक अत्यन्त पवित्र, रहस्यमयी धार्मिक स्थान है। वंृदावन के पवित्र शहर, मथुरा जिला, उत्तर प्रेदश में स्थित है। यह एक पवित्र स्थान माना जाता है तथा इस स्थान से जुड़ी बहुत सी कथायें है ऐसा माना जाता है कि निधिवन में भगवान श्रीकृष्ण एवं श्रीराधा आज भी अर्द्धरात्रि के बाद रास रचाते हैं। रास के बाद निधिवन परिसर में स्थापित रंग महल में शयन करते हैं। रंग महल में आज भी प्रसाद (माखन मिश्री) प्रतिदिन रखा जाता है।
शयन के लिए पलंग लगाया जाता है। सुबह बिस्तरों के देखने से प्रतीत होता है कि यहां निश्चित ही कोई रात्रि विश्राम करने आया तथा प्रसाद भी ग्रहण किया है। लगभग दो ढ़ाई एकड़ क्षेत्रफल में फैले निधिवन के वृक्षों की खासियत यह है कि इनमें से किसी भी वृक्ष के तने सीधे नहीं मिलेंगे तथा इन वृक्षों की डालियां नीचे की ओर झुकी तथा आपस में गुंथी हुई प्रतीत होती हैं।
निधिवन परिसर में ही संगीत सम्राट एवं धुपद के जनक श्री स्वामी हरिदास जी की जीवित समाधि, रंग महल, बांके बिहारी जी का प्राकट्य स्थल, राधारानी बंशी चोर आदि दर्शनीय स्थान है। ऐसा माना जाता है तथा यह के स्थानीय लोगों का कहाना है कि निधिवन में प्रतिदिन रात्रि में होने वाली श्रीकृष्ण की रासलीला को देखने वाला अंधा, गूंगा, बहरा, पागल और उन्मादी हो जाता है ताकि वह इस रासलीला के बारे में किसी को बता ना सके।
इसी कारण रात्रि 8 बजे के बाद पशु-पक्षी, परिसर में दिनभर दिखाई देने वाले बन्दर, भक्त, पुजारी इत्यादि सभी यहां से चले जाते हैं। और परिसर के मुख्यद्वार पर ताला लगा दिया जाता है। उनके अनुसार यहां जो भी रात को रुक जाता है वह सांसारिक बन्धन से मुक्त हो जाते हैं और जो मुक्त हो गए हैं, उनकी समाधियां परिसर में ही बनी हुई है।

अंग्रेजी में पढ़ें...

फोटो गैलरी

आप को इन्हें भी पढ़ चाहिए हैं :

मानचित्र में निधिवन

आपको इन्हे देखना चाहिए

आने वाला त्योहार / कार्यक्रम

आज की तिथि (Aaj Ki Tithi)

ताज़ा लेख

इन्हे भी आप देख सकते हैं

X