बुद्ध पूर्णिमा

Short information

  • Featured in religions: Buddhism
  • Date : Monday, 30 April, 2018
  • Date falls in: Full moon of the month of Vaishakh, usually in April (first), May or June (last).
  • Also called: Buddha's Birthday or Buddha Day

बुद्ध पूर्णिमा को भगवान गौतम बुद्ध के जन्म दिवस के रूप में मनाया जाता है। वैशाख पूर्णिमा को बुद्ध पूर्णिमा भी कहते हैं। गौतम बुद्ध का नाम पहले राजकुमार सिद्धार्थ गौतम था। बुद्ध का अर्थ है ‘ज्ञानवान व जानकार’, गौतम बुद्ध को शाकामुनी के रूप में भी जाना जाता है।

बुद्ध जयंती भगवान गौतम बुद्ध का जन्मदिन है। सिद्धार्थ गौतम का जन्म नेपाल के कपिलवस्तू में 623 ई.पू. में हुआ था। तीस वर्ष के आयु में गौतम बुद्ध ने एक बोधी वृक्ष के नीचे निर्वाण प्राप्त किया था। उन्होंने अपना पहला धर्मोपदेश सरनाथ, भारत में दिया। 80 की आयु में, वह कुशीनगर, भारत में निधन हो गया।
बौद्ध धर्म के अनुयायियों के लिए बुद्ध पूर्णिमा सबसे बड़ा त्योहार का दिन होता है। बुद्ध का जन्म पूर्णिमा के दिन हुआ था। बुद्ध को पूर्णिमा के ही दिन निर्वाण प्राप्त किया और इस दुनिया को वैशाख सुक्ला पूर्णिमा के दिन छोड़ दिया था। इस दिन को पूरी दुनिया में बुद्ध पूर्णिमा के रूप में मनाया जाता है। इस दिन अनेक प्रकार के समारोह आयोजित किए गए हैं। अलग-अलग देशों में वहां के रीति- रिवाजों और संस्कृति के अनुसार समारोह आयोजित होते हैं।

आज बौद्ध धर्म को मानने वाले विश्व में 50 करोड़ से अधिक लोग इस दिन को बड़ी धूमधाम से मनाते हैं। हिन्दू धर्मावलंबियों के लिए बुद्ध विष्णु के नौवें अवतार हैं। अतः हिन्दुओं के लिए भी यह दिन पवित्र माना जाता है।

बुद्ध के जन्मदिन की सही तारीख एशियाई मंडली कैलेंडर पर आधारित है। बुद्ध के जन्मदिन के उत्सव की तारीख पश्चिमी ग्रेगोरियन कैलेंडर में साल-दर-साल भिन्न होती है, लेकिन आम तौर पर अप्रैल या मई में होती है। छलांग के वर्षों में यह जून में मनाया जा सकता है।

Read in English...

बुद्ध पूर्णिमा बारे में

वेब के आसपास से

    We use cookies in this webiste to support its technical features, analyze its performance and enhance your user experience. To find out more please read our privacy policy.