बुढवा मंगल 2022

बुढवा मंगल 2022

महत्वपूर्ण जानकारी

  • ज्येष्ठ माह 2022 में बुध मंगल की तिथियां
  • पहला बुधवा मंगल - मंगलवार, 17 मई 2022
  • दूसरा बुधवा मंगल - मंगलवार, 24 मई 2022
  • तीसरा बुधवा मंगल - मंगलवार, 21 मई 2022
  • चौथा बुध मंगल - मंगलवार, 7 जून 2022

बुढवा मंगल भगवान हनुमान को समर्पित दिन होता है। यह दिन हिन्दूओं के लिए महत्वूपर्ण स्थान रखता है। बुढवा मंगल को बड़ा मंगल भी कहा जाता है। इस दिन भगवान हनुमान की पूजा की जाती है।

बुढवा मंगल ज्येष्ठ माह के पहला मंगलवार को है अर्थात् 17 मई, वैसे ज्येष्ठ माह में आने वाले सभी मंगलवार के दिनों को बुढवा मंगल का दिन कहा जाता है।
पौराणिक कथाओं के अनुसार, हनुमान जी ऐसे देव है जो अभी भी पृथ्वी पर अभी भी जीवित हैं। वे अपने आराध्य भगवान श्रीराम की आज्ञा का पालन करते हुए आज भी पृथ्वी पर ही जीवित रहते हुए अपने भक्तों का कल्याण करते हैं। धार्मिक मान्यता है कि हनुमान जी की पूजा से भक्तों के सभी दुख दूर हो जाते हैं।

बुढवा मंगल मंत्र

ॐ नमो हनुमते रुद्रावताराय विश्वरूपाय अमित विक्रमाय
प्रकटपराक्रमाय महाबलाय सूर्य कोटिसमप्रभाय रामदूताय स्वाहा।

जीवन में शांति और समृद्धि के लिए बुधवा मंगल पर मंत्र का 108 बार जाप करें।

बुढवा मंगल पर क्या करें?

किसी हनुमान मंदिर में जाएं और हनुमान जी के दर्शन करें। हनुमान चालीसा का जाप करें। दिन में पशुओं को भोजन कराएं।

बड़े मंगलवार के दिन सुबह स्नान आदि से निवृत होकर बड़ के पेड़ का एक पत्ता तोड़कर लायें. उसे पानी में धुलकर हनुमान जी के सामने रखें. अब उस पर केसर से श्रीराम लिखें और अपने पर्स में रख लें। इससे कभी धन की कमी नहीं होगी। पत्ता सूखने पर उसे गंगा में प्रवाहित कर दें। 




संबंधित लेख


2021 के आगामी त्यौहार और व्रत











दिव्य समाचार










आप यह भी देख सकते हैं


EN हिं