हनुमान जयंती

Hanuman Jayanti

Short information

हनुमान जयंती का त्योहार हिन्दू भगवान श्री हनमुान के सम्मान में मनाया जाता है। यह त्योहार हिन्दू पौराणिक कथा के अनुसार चैत्र माह की पूर्णिमा पर भगवान राम की सेवा के उद्देश्य से भगवान शंकर के ग्यारहवें रुद्र ने अंजना के घर हनुमान के रूप में जन्म लिया था,  इसलिए यह त्योहार को वानरों के देव भगवान श्री हनुमान के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। यह त्यौहार हिन्दूओं को विशेष त्योहार है तथा इस को त्योहार पूरे भारत में मनाया जाता है। हनमुान जी को भगवान वरूण के नाम से भी जाना जाता है।

श्री हनुमान जी, श्री राम के परम भक्त थे तथा उनकी भक्ति, निष्ठा व सेवा का सम्पूर्ण वर्णन ‘‘श्री रामायण’’ में किया गया है। श्री हनुमान जी को शक्ति व ऊर्जा का प्रतीक माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि अगर किसी व्यक्ति को भूत-प्रेत से छुटकारा चाहिए होता है तो वह भगवान श्री हनुामन की पूजा आराधना करता है।

पौराणिक कथाओं में कहा गया है कि अगर शनि को शांत करना है तो भगवान श्री हनुमान जी को प्रसन्न करना चाहिए। ऐसा इसलिए कहा गया है कि जब हनुमानजी ने शनिदेव का घमंड तोड़ा था तब सूर्यपुत्र शनिदेव ने हनुमानजी को वचन दिया है कि उनकी भक्ति करने वालों की राशि पर आकर भी वे कभी उन्हें पीड़ा नहीं देंगे। इस दिन भक्त हनुमानजी की मूर्ति पर तेल, टीका एवं सिंदूर चढ़ाते है। बहुत लोग इस दिन उपवास भी रखते हैं। ऐसी मान्यता है की हनुमान जयंती के दिन जो भी व्यक्ति हनुमानजी की भक्ति और दर्शन करता है, उसके सभी दुख-दर्द दूर हो जाते हैं। भक्त गण प्रातः काल से ही भगवान हनुमान के पूजा व दर्शन हेतु मंदिरों में जाते है।

हनुमान जयंती परिक्रमा

दिनतारीखत्योहार का नाम
मंगलवारApr 15, 2014हनुमान जयंती
शनिवारApr 04, 2015हनुमान जयंती
शुक्रवारApr 22, 2016हनुमान जयंती
मंगलवारApr 11, 2017हनुमान जयंती
शनिवारMar 31, 2018हनुमान जयंती
शुक्रवारApr 19, 2019हनुमान जयंती
बुधवारApr 08, 2020हनुमान जयंती

Read in English...

आप को इन्हें भी पढ़ना चाहिए हैं :

Hanuman Jayanti बारे में

आपको इन्हे देखना चाहिए

आने वाला त्योहार / कार्यक्रम

आज की तिथि (Aaj Ki Tithi)

ताज़ा लेख

इन्हे भी आप देख सकते हैं

X