श्री सूर्य गायत्री मंत्र

श्री सूर्य गायत्री मंत्र

महत्वपूर्ण जानकारी

  • सूर्य गायत्री मंत्र के लाभ : सूर्य गायत्री मंत्र का जाप 108  बार करना चाहिए। इस मंत्र के जाप से बहुत लाभ होता है जैसे कि आत्मशुद्धि, आत्म-सम्मान, मन की शांति होती हैं । आने वाली विपत्ति टलती हैं, शरीर में नये रोग जन्म लेने से थम जाते हैं । रोग आगे फैलते नहीं, कष्ट शरीर का कम होने लगता हैं।

सूर्य गायत्री मंत्र का जाप भगवान सूर्य देव के लिया किया जाता है। इस मंत्र के जाप से सूर्य भगवान को प्रसन्न और उनका आशीर्वाद पाने के लिया किया जाता है। इस मंत्र का जाप सुबह सुबह करनी चाहिए। इसके अधिकतम प्रभाव के लिए इस गायत्री मंत्र का मतलब समझना चाहिए।

ऊँ आदित्याय विदमहे दिवाकराय धीमहि तन्नो सूर्यः प्रचोदयत।।

ओम, मुझे सूर्य देव का ध्यान करें,
ओह, दिन के निर्माता, मुझे उच्च बुद्धि दें,
और सूर्य देव मेरे मन को रोशन करें।






2021 के आगामी त्यौहार और व्रत











दिव्य समाचार










आप यह भी देख सकते हैं


EN हिं