मासिक कालाष्टमी व्रत 2021

Masik Kalashtami Vrat 2021

संक्षिप्त जानकारी

  • काला अष्टमी व्रत
  • 5 मार्च, 2021, शुक्रवार, फाल्गुन, कृष्ण अष्टमी
  • शुरू होता है - 07:54 PM, मार्च 05, अंत - 06:10 PM, 06 मार्च

कालाष्टमी व्रत भगवान भैरव के भक्तों के लिए बहुत महत्वपूर्ण दिन होता है। यह व्रत प्रत्येक महीने के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है। इस दिन भगवान भैरव के भक्त पूरे दिन उपवास रखते है और वर्ष में सभी कालाष्टमी के दिन उनकी पूजा करते हैं।

कालाष्टमी, जिसे काला अष्टमी के रूप में भी जाना जाता है। सबसे महत्वपूर्ण कालाष्टमी, जिसे कालभैरव जयंती के रूप में जाना जाता है। यह माना जाता है कि भगवान शिव उसी दिन भैरव के रूप में प्रकट हुए थे। कालभैरव जयंती को भैरव अष्टमी के रूप में भी जाना जाता है।

यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि कालाष्टमी व्रत सप्तमी तीथ पर मनाया जा सकता है। धार्मिक पाठ के अनुसार व्रतराज कालाष्टमी का व्रत उस दिन मनाया जाना चाहिए जब अष्टमी तिथि रात्रि के समय रहती है।

कालाष्टमी व्रत तिथि 2021 इस प्रकार है।

तिथिप्रारंभ और समाप्ति समय
6 जनवरी, 2021, बुधवार
पौष, कृष्ण अष्टमी
शुरू - 04:03 AM, 06 जनवरी
समाप्त - 02:06 पूर्वाह्न, 07 जनवरी
4 फरवरी, 2021, गुरुवार
माघ, कृष्ण अष्टमी
शुरू - 12:07 बजे, 04 फरवरी
समाप्त - 10:07 बजे, 05 फरवरी
5 मार्च, 2021, शुक्रवार
फाल्गुन, कृष्ण अष्टमी
शुरू - 07:54 PM, 05 मार्च
समाप्त - प्रातः 06:10, प्रातः 06
4 अप्रैल, 2021, रविवार
चैत्र, कृष्ण अष्टमी
शुरू - 04:12 AM, 04 अप्रैल
समाप्त - 02:59 AM, 05 अप्रैल
3 मई, 2021, सोमवार
वैशाख, कृष्ण अष्टमी
शुरू - दोपहर 01:39 बजे, 03 मई
समाप्त - दोपहर 01:10 बजे, 04 मई
2 जून, 2021, बुधवार
ज्येष्ठ, कृष्ण अष्टमी
शुरू - 12:46 AM, 02 जून
समाप्त - दोपहर 01:12 बजे, 03 जून
1 जुलाई, 2021, गुरुवार
आषाढ़, कृष्ण अष्टमी
शुरू - 02:01 PM, 01 जुलाई
समाप्त - 03:28 PM, 02 जुलाई
31 जुलाई, 2021, शनिवार
श्रावण, कृष्ण अष्टमी
शुरू - 05:40 AM, 31 जुलाई
समाप्त - 07:56 AM, 01 अगस्त
30 अगस्त, 2021, सोमवार
भाद्रपद, कृष्ण अष्टमी
शुरू - 11:25 PM, 29 अगस्त
समाप्त - 01:59 AM, 31 अगस्त
28 सितंबर, 2021, मंगलवार
अश्विना, कृष्णा अष्टमी
शुरू - 06:16 PM, 28 सितंबर
समाप्त - 08:29 PM, 29 सितंबर
28 अक्टूबर, 2021, गुरुवार
कृतिका, कृष्ण अष्टमी
शुरू - 12:49 PM, 28 अक्टूबर
समाप्त - 02:09 PM, 29 अक्टूबर
27 नवंबर, 2021, शनिवार
मार्गशीर्ष, कृष्ण अष्टमी
शुरू - 05:43 AM, 27 नवंबर
समाप्त - 06:00 पूर्वाह्न, 28 नवंबर
26 दिसंबर, 2021, रविवार
पौष, कृष्ण अष्टमी
शुरू - 08:08 PM, 26 दिसंबर
समाप्त - 07:28 PM, 27 दिसंबर

काल भैरव की आराधना के लिए मंत्र है-

।। ॐ भैरवाय नम:।।

काल भैरव के प्रमुख मंदिर...

You can Read in English...

आरती

मंत्र

चालीसा

आप को इन्हें भी पढ़ना चाहिए हैं :

Other monthly Blog of Spiritual science

Masik Kalashtami Vrat 2021 बारे में

आपको इन्हे देखना चाहिए

आने वाला त्योहार / कार्यक्रम

आज की तिथि (Aaj Ki Tithi)

ताज़ा लेख

इन्हे भी आप देख सकते हैं

X