2021 में पूर्णिमा तिथि

Purnima Tithi in 2021

संक्षिप्त जानकारी

  • बुद्ध पूर्णिमा, वैशाख पूर्णिमा
  • मंगलवार, 25 मई 2021
  • प्रारंभ: 25 मई, रात 08:30 बजे , समाप्त : 26 मई, शाम 04:43 बजे

हिन्दू धर्म में पूर्णिमा का विशेष महत्व है। हिन्दू धर्म में कैलेण्डर व हिन्दू पंचाग के तिथि में चन्द्रमा के अनुसार ही बदलती है। पूर्णिमा क्या होता है? यह वह रात होती है जब चन्द्रमा पूर्ण रूप से दिखाई देता है। पूर्णिमा की रात हर 30 दिन बाद आती है यह ऐसा कहा जा सकता है कि पूर्णिमा एक महीने में एक बार आती है। चन्द्रमा के घटते और बढते हुए को पक्ष कहा जाता है दो प्रकार के होते है शुक्ल पक्ष और कृष्णपक्ष

2021 में पूर्णिमा के तिथि इस प्रकार है।

तिथिप्रारंभ और समाप्ति समय
पौष पूर्णिमा 28 जनवरी, गुरुवार28 जनवरी, 1:17 बजे - 29 जनवरी, 12:46 बजे
माघ पूर्णिमा 26 फरवरी शुक्रवार26 फरवरी, दोपहर 3:50 बजे - 27 फरवरी, 1:47 बजे
हुतसानी पूर्णिमा 28 मार्च रविवार28 मार्च, 3:27 बजे - मार्च 29, 12:18 बजे
पूर्णिमा 26 अप्रैल सोमवार26 अप्रैल,  दोपहर 12:44 बजे - 27अप्रैल, सुबह 9:01 बजे
बुद्ध पूर्णिमा, वैशाख पूर्णिमा 25 मई मंगलवार25 मई, रात 8:30 बजे - 26 मई, 4:43 बजे
देव स्नान पूर्णिमा, ज्येष्ठ पूर्णिमा 24 जून गुरुवार24 जून, 3:32 बजे - 25 जून, 12:09 बजे
गुरु पूर्णिमा 23 जुलाई शुक्रवार23 जुलाई, 10:43 पूर्वाह्न - 24 जुलाई, सुबह 8:06 बजे
नरली पूर्णिमा, जंध्यला पूर्णिमा, श्रावण पूर्णिमा 21 अगस्त, शनिवार21 अगस्त, शाम 7:00 बजे - 22 अगस्त, शाम 5:31 बजे
भाद्रपद पूर्णिमा 20 सितंबर सोमवार20 सितंबर, 5:28 बजे - 21 सितंबर, 5:24 बजे
शरद पूर्णिमा 19 अक्टूबर मंगलवार19 अक्टूबर, 7:03 बजे - 20 अक्टूबर, रात 8:26 बजे
कार्तिक पूर्णिमा 18 नवंबर गुरुवार18 नवंबर, 12:00 अपराह्न - 19 नवंबर, 2:27 बजे
मार्गशीर्ष पूर्णिमा 18 दिसंबर मंगलवारदिसंबर 18, 7:24 पूर्वाह्न - दिसंबर 19, 10:05 पूर्वाह्न

You can Read in English...

आरती

मंत्र

चालीसा

आप को इन्हें भी पढ़ना चाहिए हैं :

Other monthly Blog of Spiritual science

आपको इन्हे देखना चाहिए

आगामी त्योहार और व्रत 2021

आज की तिथि (Aaj Ki Tithi)

ताज़ा लेख

इन्हे भी आप देख सकते हैं

X