भगवद गीता अध्याय 1, श्लोक 29

Bhagavad Gita Chapter 1, Shlok 29

वेपथुश्च शरीरे मे रोमहर्षश्च जायते || 29||

मेरा पूरा शरीर कांप गया; मेरे बाल सिरे पर खड़े हैं।

शब्द से शब्द का अर्थ:

वेपथुः - सिहरन
चा - और
शरीर - शरीर पर
मैं - मेरा
रोमहर्षश्च - अंत में शरीर के बालों का खड़ा होना
चा - भी
जायते - हो रहा है

You can Read in English...

आप को इन्हें भी पढ़ना चाहिए हैं :

आपको इन्हे देखना चाहिए

आने वाला त्योहार / कार्यक्रम

आज की तिथि (Aaj Ki Tithi)

ताज़ा लेख

इन्हे भी आप देख सकते हैं

X