माता मानसा देवी मंदिर

माता मानसा देवी मंदिर

महत्वपूर्ण जानकारी

  • Location: Sector 4, Mansa Devi Complex, MDC Sector 4, Panchkula, Haryana
  • Timings: Summers: 04:00 AM - 10:00 PM.
  • Winters: 05:00 AM - 09:00 PM.
  • Nereast Railway Station: Chandigarh Railway Station at a distance of nearly 7.1 kilometres from Mansa Devi Temple .
  • Nearest Air Port : Chandigarh International Airport, at a distance of nearly 18.2 kilometres from Mansa Devi Temple.
  • Did you know: Mata Mansa Devi temple was constructed during the period of 1811-1815 during the period of Maharaja Gopal Singh of Mani Majra.

माता मानसा देवी मंदिर एक हिन्दू मंदिर है जो कि भारत के राज्य हरियाणा के पंचकुला जिले में स्थिति है। यह मंदिर माता मानसा देवी को पूर्णतः समर्पित है। मंदिर परिसर बिलासपुर गांव में शिवालिक तलहटी के लगभग 100 एकड़ जमीन पर फैला हुआ है। यह मंदिर चंडी मंदिर से 10 किलोमीटर दूरी पर स्थित है।

यह उत्तर भारत के प्रमुख शक्ति मंदिरों में से एक है। हजारों भक्त देश के विभिन्न हिस्सों से मंदिर में आते हैं, और विशेष रूप से नवरात्र मेला के दौरान, नौ शुभ दिन के लिए यह संख्या हर रोज लाखों तक बढ़ जाती है।

माता मानसा देवी मंदिर का निर्माण मणि माजरा के महाराजा गोपाल सिंह ने 1811-1815 की अवधि के दौरान किया गया था। मुख्य मंदिर से 200 मीटर की दूरी पर पटियाला मंदिर है जिसे 1840 में तत्कालीन महाराजा पटियाला के एक सिख करम सिंह ने बनाया था। इस मंदिर में मनीमाजरा रियासत राज्य का संरक्षण था।

राज्य सरकार के संरक्षण पीईपीएसयू में रियासतों के विलय के बाद मंदिर पर ध्यान नहीं दिया गया गया था। मनीमाजरा के राजा ने इस मंदिर की सेवा के लिए एक पुजारी को नियुक्त किया जिसका कर्तव्य मंदिर की सेवा व देवी की पूजा करना था।

पीईपीएसयू में रियासतों के विलय के बाद इस मंदिर के हालत दिनों दिन बिगड़ती गई थी। मंदिर के पुजारियों मंदिर की व्यवस्था व आवश्यक सुविधायें प्रदान करने में असमर्थ रहे। बाद में, हरियाणा सरकार ने मंदिर संभाला और मंदिर का प्रबंधन करने के लिए श्री माता मानसा देवी श्राइन बोर्ड पंचकुला ट्रस्ट की स्थापना की।

मंदिर का दौरा करने का सबसे अच्छा समय नवरात्रि के त्यौहार के दौरान होता है जब यह शानदार ढंग से सजाया जाता है और भक्ति गतिविधियों से भरा होता है। मंदिर पूरे वर्ष खुला रहता है और सभी जातियों और पंथ के आगंतुकों का स्वागत करता है।



Durga Mata Festival(s)









2021 के आगामी त्यौहार और व्रत











दिव्य समाचार










आप यह भी देख सकते हैं


>Humble request: Write your valuable suggestions in the comment box below to make the website better and share this informative treasure with your friends. If there is any error / correction, you can also contact me through e-mail by clicking here. Thank you.

EN हिं