रणवीरेश्वर मंदिर

Ranbireshwar Temple

संक्षिप्त जानकारी

  • Location: Shalimar road in front of Jammu-Kashmir civil secretariat in Jammu city,
  • Timing: 6.00 am - 8.00 pm,
  • Nearest Railway Station : Jammu Tawi, The temple is located at a distance of about approx 3 km from the railway station.
  • Nearest Air Port : Jammu Airport, which is around 8 km away from the temple.
  • Photography: Not allowed any Camera, Mobile inside the temple.

रणवीरेश्वर मंदिर शालीमार रोड, जम्मू-कश्मीर सिविल सचिवालय के सामने, जम्मू शहर, जम्मू-कश्मीर में स्थित है। रणवीरेश्वर मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। यह मंदिर जम्मू शहर का एक बहुत प्राचीन मंदिर है। रणवीरेश्वर मंदिर का निर्माण सन् 1883 में महाराजा रणबीर सिंह ने करवाया था। बाद में इस मंदिर का नाम महाराजा रणबीर सिंह के नाम रखा गया था।

ऐसा माना जाता है कि यह मंदिर उत्तर भारत में भगवान शिव का सबसे बड़ा मंदिर है। यह मंदिर जम्मू शहर का मुख्य आकर्षण है। मंदिर की एक विशेषता यह भी है कि यह मंदिर प्रथम तल पर स्थित है अर्थात् सड़क से काफी ऊँचाई पर स्थित है जहां सीढीयों द्वारा जाया जाता है।

रणवीरेश्वर मंदिर का मुख्य आकर्षण मंदिर में भगवान शिव की प्रतिमा और भगवान शिव का शिव लिंग है। भगवान शिव की प्रतिमा बहुत सुन्दर है ऐसी प्रतिमा शायद ही किसी ओर मंदिर में हो और भगवान शिव का शिव लिंग जिसकी ऊँचाई 8 फुट व काले रंग के एक ही पत्थर से बनाया गया है जोकि उत्तर भारत में सबसे बड़ा शिव लिंग है। यह शिव लिंग डोगरा शासको तहत बनाया गया था। मंदिर में 12 ओर शिव लिंग है जोकि क्रिस्टल से बनाये गये है और जिनकी ऊँचाई लगभग 18’’ और चैड़ाई 12’’ है। मंदिर के अन्दर दायें व बायें तरफ पत्थर की एक स्लैब है जिसमें छोटे-छोटे लगभग 1.25 लाख शिव लिंग है जिनको नर्मदा नदी से लाया गया था। मंदिर में भगवान गणेश, कार्तिकेय और नंदी बैल की बड़ी प्रतिमा है। नंदी बैल की प्रतिमा पीतल से बनी है जिसका वज़न लगभग 1000 किलोग्राम है।

रणवीरेश्वर मंदिर में सभी त्योहार बड़ी धूमधाम से मानाये जाते है। महाशिव रात्रि का त्योहार बहुत ही धूमधाम से मानाया जाता है।

You can Read in English...

आरती

मंत्र

चालीसा

फोटो गैलरी


संबंधित त्योहार

महाशिवरात्रि 2022

आप को इन्हें भी पढ़ना चाहिए हैं :

Other Shiv Temples of Jammu and Kashmir

आपको इन्हे देखना चाहिए

आगामी त्योहार और व्रत 2021

आज की तिथि (Aaj Ki Tithi)

ताज़ा लेख

इन्हे भी आप देख सकते हैं

X