श्री प्रियाकान्त जू मंदिर

Priyakant Ju Temple

Short information

  • Location: Chhatikkara Vrindavan Road, Near Vaishno Devi Mandir Shri Dham, Vrindavan, Uttar Pradesh 281121

  • Timing: 6.00 am to 12.30 pm and 4.30 pm to 8.30 pm.

  • Aarti Timing:
  • Summer (from Akshya Tratiya to Devothan Ekadashi)
  • Morning: Mangla Aarti : 06.00 am to 06.30 am,
  • Shrinagar Aarti : 9.00 am.
  • Rajbhog : 11.45 am to 12.00 am
  • Door Closed : 12.30 pm
  • Evening
  • Door Open : 4.30 pm
  • Sandhiya Aarti : 6.30 pm
  • Shayan Bhog : 7.30 pm to 7.45 pm
  • Door Closed : 8:30 pm 

  • Dedicated to: Lord Krishna and Radha

  • Date built‎: ‎8 February 2016

  • Important festivals‎: ‎Janmashtami‎, ‎Radhastami

  • How to reach: The temple is reachable by taking local Buses, Rickshaws or by hiring Taxis from National Highway Mathura Road.

श्री प्रियाकान्त जू मंदिर भगवान श्री कृष्ण जी को समर्पित है तथा इस मंदिर में भगवान श्रीकृष्ण और राधा की सुन्दर व मनमोहन मूर्ति स्थापित है। इस मंदिर का नाम का राधा व श्रीकृष्ण जी के आधार पर रखा गया है प्रिया यहां श्री राधा है और कान्त यहां भगवान श्रीकृष्ण है। यह मंदिर वृंदावन के पवित्र शहर, मथुरा जिला, उत्तर प्रदेश में स्थित है। इस मंदिर की लगभग ऊँचाई 125 फिट है। श्री प्रियाकान्त जू मंदिर कमल के फुल कि तरह बनाया गया है। मंदिर सडक के किनारे बनाया गया है तथा मंदिर सडक से काफी ऊँचाई पर है मंदिर के दोनो तरफ पानी के कुण्ड है जिसमें फुव्वारे भी लगाये गये है। मंदिर के चारों कोनो पर भगवान गणेश, हनुमान व भगवान शिव के छोटे-छोटे मंदिर भी बनाये गये है। इस मंदिर के निर्माण के लिए मकराना राजस्थान के संगमरमर का प्रयोग किया गया है। यह मंदिर प्राचीन भारतीय कला और वास्तुकला में एक पुनर्जागरण को दर्शाता है।

श्री प्रियाकान्त जू मंदिर बनाने का संकल्प विश्व शांति चैरिटेबल ट्रस्ट ने 2007 में लिया था। श्री प्रियाकान्त जू मंदिर की स्थापना श्री देवकी नन्दन ठाकुर जी महाराज द्वारा 2009 में रखी गई थी तथा मंदिर को बनाने में लगभग 7 साल का समय लगा था। इसके प्रथम चरण की शुरुआत 2012 में हुई। श्री प्रियाकान्त जू मंदिर लोगों के लिए 8 फरवरी 2016 में खोला गया था। इस मंदिर का उद्घाटन श्री कप्तान सिंह सोंलकी जो कि हरियाणा के राज्यपाल है, के द्वारा किया गया था। मंदिर के उद्घाटन में लाखों श्रदालुओं ने भाग लिया था।

Read in English...

फोटो गैलरी

वीडियो गैलरी

आप को इन्हें भी पढ़ चाहिए हैं :

मानचित्र में श्री प्रियाकान्त जू मंदिर

आपको इन्हे देखना चाहिए

आने वाला त्योहार / कार्यक्रम

आज की तिथि (Aaj Ki Tithi)

ताज़ा लेख

इन्हे भी आप देख सकते हैं

X