नया विश्वनाथ मंदिर या बिड़ला मंदिर

Shri Vishwanath Temple

Short information

  • Location: Banaras Hindu University Campus, Varanasi, Uttar Pradesh.
  • Timings: 04:00 am to 11:00 am and 12:00 pm to 07:00 pm
  • Nearest Railway Station:  Varanasi Junction - 10.2 Km
  • Mughalsarai Junction - 29.9 Km
  • Maduadih Railway Station - 6.3 Km
  • Varanasi City - 8.8 Km
  • Nearest Airport : Lal Bahadur Shastri International Airport, which is around 30.2 km away from Shri Vishwanath Temple.
  • Nearest Bus Stand : Varanasi Bus Stand at a distance of nearly 9 kilometres from the Shri Vishwanath Temple.
  • How to reach to the temple: You can reach to the temple by having an auto rickshaw or taxi.
  • Best Time ot Visit: October to March is the best time to visit and (Early morning, before 7:00 am).
  • Architectural style: Hindu Temple
  • Year built: 1966.
  • Did you know: The temple is one of the tallest temples in India. The total height of the temple is 77 meters (253 ft). It took almost 35 years to build this temple.

श्री विश्वनाथ मंदिर एक हिन्दूओं का प्रमुख मंदिर है। जो कि भारत के राज्य उत्तर प्रदेश, वाराणसी में स्थित है। यह मंदिर वाराणसी में काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (बी.एच.यू) के परिसर में स्थित है। यह मंदिर पूर्णतयः भगवान शिव समर्पित है। इस मंदिर का नया विश्वनाथ मंदिर या बिड़ला मंदिर भी कहा जाता है। यह मंदिर श्री काशी विश्वनाथ मंदिर से 7 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। ऐसा माना जाता है, कि इस मन्दिर का शिखर भारत में सबसे ऊँचा है।

श्री विश्वनाथ मंदिर, बिड़ला मंदिर के समुहों में सबसे प्रमुख व प्रसिद्ध मंदिर है। इस मंदिर में सभी देवी देवताओं के छोटे बड़े मंदिर है। जिनमें सबसे प्रमुख मंदिर भगवान शिव का है। श्री विश्वनाथ मंदिर के अन्दर भगवान शिव के नटराज रूप की बहुत सुन्दर मूर्ति है। माता पार्वती, भगवान गणेश, पंचमुखी महादेव, भगवान हनुमान, सरस्वती और नंदी की भी मुर्ति स्थिपित है। भगवद गीता का संपूर्ण पाठ और पवित्र हिंदू धर्मग्रंथों के अर्क को मंदिर की आंतरिक संगमरमर की दीवारों पर चित्रण के साथ अंकित किया गया है।

श्री काशी विश्वनाथ मंदिर, जो कि वाराणसी में स्थित है, को कई बार नष्ट व पुनर्निर्माण किया गया था। 1194 में कुतुब-उद-दीन ऐबक द्वारा, 1447-1458 के बीच हुसैन शाह शर्की द्वारा और फिर 1669 ईस्वी में औरंगजेब द्वारा नष्ट किया गया था। 1930 के दशक में, पंडित मदन मोहन मालवीय ने काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के परिसर में श्री काशी विश्वनाथ मंदिर की जैसा बनाने की योजना बनाई। बिड़ला परिवार ने मार्च 1931 में निर्माण और नींव रखी। इस मंदिर का पूर्ण निर्माण 1966 में पुरा हुआ, तथा मंदिर के बनाने में लगभग 35 वर्ष लग गये। मंदिर भारत के सबसे ऊंचे मंदिरों में से एक है। मंदिर की कुल ऊंचाई 77 मीटर (253 फीट) है। मंदिर का डिज़ाइन श्री काशी विश्वनाथ मंदिर से प्रेरित था और मंदिर को लाल रंग के पत्थर और ज्यादातर सफेद संगमरमर से बनाया गया है।

Read in English...

आप को इन्हें भी पढ़ना चाहिए हैं :

Other Shiv temples of Uttar Pradesh

मानचित्र में नया विश्वनाथ मंदिर या बिड़ला मंदिर

आपको इन्हे देखना चाहिए

आने वाला त्योहार / कार्यक्रम

आज की तिथि (Aaj Ki Tithi)

ताज़ा लेख

इन्हे भी आप देख सकते हैं

X